adnow header ad

loading...

शनिवार, 31 मार्च 2018

तोता मालकिन और नौकर की कहानी - Parrot Landlord and Labour

एक औरत तोता पाल रखी थी. उसका तोता बहुत समझदार था. अपने मालकिन की आवाज सुन सुन कर उसे याद कर उसकी की नक़ल कर दोहराता था. मालकिन के रोज व्यवहार में आने वाले शब्दों को सुन सुन कर वो याद कर लिया था.
उस औरत के फार्म हाउस में काम करने वाले मजदूर काम ख़त्म हो जाने पर कृषि उपकरण आदि रखने उसके फार्म हाउस पर आते और दरवाजे खटखटाते।
दरवाजा खटखटाने की आवाज सुन कर फार्म हाउस की मालकिन घर के अंदर से ही "यह कौन है ", "यह कौन है"  की आवाज लगाती। इस आवाज को सुनकर उसका पालतू तोता अभ्यास करने का प्रयास करता।

एक दिन घर की मालकिन घर पर नहीं थी।  दोपहर में खेत पर काम समाप्त कर मजदूर मालकिन के फार्म हाउस पर फार्मिंग टूल्स रखने पहुंचा। उसने दरवाजा खटखटाया।

दरवाजे के पास टंगे पिंजड़े से तोते ने आवाज लगायी "यह कौन हैं ".



तोते ने रट लिया था दरवाजा खटखटाने की आहट पर "यह कौन है" कहना है।

मजदूर ने "यह मजदूर है" कहते हुए फिर से दरवाजा खटखटाया :

तोता फिर से  पूछा " यह कौन है "      

मजदूर ने "यह मजदूर है" कहते हुए फिर से दरवाजा खटखटाया :

रटा तोता फिर से  पूछा " यह कौन है "

तोता के  बार बार ऐसा पूछने से मजदूर  थक गया, और हार कर दरवाजे पर बैठ गया। अपने मालकिन का काफी देर इन्तजार करते करते उसकी नींद आ गयी और ओ वहीँ लेट गया। 

मालकिन जब घर लौटी तो अपने दरवाजे पर मजदूर को सोते हुए देखा।  उसे देखकर मालकिन बोली " यह कौन है ?


तोता मजदूर के मुख से बार बार "यह मजदूर है " सुनकर याद कर लिया था 


adsense